data types in C++ in hindi

जैसा कि हम जानते हैं, किसी program में data store करने के लिए सबसे पहले variable declare करते हैं। ये variable program में किस प्रकार की जानकारी को store करेंगे, यह उसके data -type पर निर्भर करता है। जिसका अर्थ है कि variable में stored data एक numeric होगा या characters .

सरल तरीके से, data -type का अर्थ है data/information का रूप

different type of data को store करने के लिए C ++ में अलग-अलग keyword दिए गए हैं। यहाँ हम उनकी चर्चा करेंगे।

Type of data-type in C++

C++ में data -type को 3 हिस्सों में बांटा गया है –

  • Built-in data type
  • Derived data type
  • user-defined data type

आप इसे निचे दिए गए diagram से समझ सकते हैं,

data-type-in-cpp-hindi

C++ Built in data type hindi

ये इस प्रकार हैं-

int data type

इसका उपयोग केवल संख्यात्मक मानों को store करने के लिए किया जाता है-

int x = 4; 
int x = 4.2; // not possible

float data type

यह केवल decimal प्रकार की values को store करता है-

float x = 4.2; 
float x = 3; // also possible

✍: यहां याद रखें कि switch statement में float data का उपयोग नहीं किया जा सकता है .

char data type

यह characters value के लिए use किया जाता है-

char x =  'c'; // single character
char x[] = "C++HindiTutorials";
char x = ' ' //Null

✍: याद रखें कि हम decimal और integer type values को char data type में store कर सकते हैं, लेकिन उस स्थिति में stored data character type data की तरह व्यवहार करेगा, नीचे दिए गए statements देखें,

char x = '4';// possible
char x[] = "4.2"// possible

void data type

इसका उपयोग निम्नलिखित मामलों में किया जाएगा-

  • यह निर्धारित करता है कि कोई function return type, है या नहीं, इसका उपयोग किसी function में तब किया जाता है जब कोई function कोई value return नहीं करता।
  • यदि function -header में कोई declare नहीं किया गया हैं, तो parameter में void का उसे किया जा सकता है (यह optional होता है )
  • यह void pointer में , different data type के variable address को स्टोर कर सकता है।
#include<iostream.h>
#include<conio.h>

void main()
{
  int a =10; 
  float b = 4.5; 
  char c = 'a'; 
 
  clrscr();
  cout<<"a : "<<i<<endl;
  cout<<"b : "<<f<<endl;
  cout<<"c : "<<c;
  
 getch();
}

OUTPUT

a : 10;
b : 4.5
c : a

Explanation:

उपरोक्त program में “a” एक numeric को , “b” एक single character को और “c” एक decimal value को store कर रहा है।

किसी data type का size , system architecture (32-बिट / 64-बिट) पर निर्भर करता है। तो यह किसी system में अलग हो सकता है।

“memory में एक variable का size उनके data type पर निर्भर करता है जबकि एक data -type का size system पर निर्भर करता है। ”

built in data type के size नीचे table में दिए गए हैं –

Name size(in bytes) Range
int 2 -032768 – 32767
float 4 3.4E – 38 to 3.4E+38
char 1 -128 – 127
double 8 1.7E – 308 to 1.7E+308

आप इसे नीचे दिए गए Program की मदद से समझ सकते हैं, जहां sizeof() operator का उपयोग करके हम memory में data -type size पता करते हैं।

Find out the size of data-type in C++

#include<iostream.h>
 #include<conio.h>

 void main()
  {

    int x=25;
    float z;
    char y ='c';
    char [6];

    clrscr();
    cout<<"\nsize of x variable : "<<sizeof(x)<<" bytes";
    cout<<"\nsize of int        : "<<sizeof(int)<<" bytes";
    cout<<"\nsize of y variable : "<<sizeof(y)<<" bytes";
    cout<<"\nsize of char       : "<<sizeof(char)<<" bytes";
    cout<<"\nsize of z variable : "<<sizeof(z)<<" bytes";
    cout<<"\nsize of float      : "<<sizeof(float)<<" bytes"; 
    cout<<"\nsize of char[6]    : "<<sizeof(c)<<" bytes"; 

    getch();
  }

OUTPUT

size of x variable : 2 bytes
size of int        : 2 bytes
size of y variable : 1 bytes
size of char       : 1 bytes
size of z variable : 4 bytes
size of float      : 4 bytes
size of char[6]    : 6 bytes

जैसा कि आप देख सकते हैं कि int type variable 2 byte, float type variable 4 byte  char type variable 1 byte, और string  (जो character of sequence होता है)  6 bytes (प्रत्येक character के लिए 1 byte और NULL character लिए भी 1 byte) space reserve करेगा।

derived data type in C++ hindi

जैसे built-in data type हम केवल single type values store कर सकते हैं –

int x = 5;
flat y = 0.5;
char z = 'a';

जबकि multiple data/different types of data को एक ही data -type में store करने के लिए हम derived data – type को प्रयोग में लाते हैं जैसे,

array में,

int arr[] = {4,2,5,1,8,5}    
char str[]= "Rahul"; //{'R','a','h','u','l','\0'};

जहाँ int और char, built – in data type हैं, और arr , str दोनों identifier है।

ऐसे ही function में ,

  built-in data-type function-name  {
            int x = 5;  //built in data type
            int arr[] = {4,2,5,1,8,5};  // derived data type 
   }

user-defined data-type in C++ hindi

user-defined data-type C++ में built-in data-type and derived data type का एक collection होता है, जैसे,

structure में,

struct structure-name { 
        int x = 5;  //built in data type
        int arr[] = {4,2,5,1,8,5}  // derived data type
        data-type function-name  // derived data type
      }

class में,

class class-name   {
          int x = 5;   //built in data type
          int arr[] = {4,2,5,1,8,5}   // derived data type
      public:
          data-type function-name // derived data type
    }

derived data-type और user-defined data- type, दोनों का उपयोग एक ही data -type में अलग-अलग information को store करने के लिए किया जाता है।

Things to know

char data type सभी प्रकार की values (numeric , decimal , special values ) को store कर सकता है जबकि int और float data -type केवल संख्यात्मक प्रकार data को ही store कर सकते हैं ।

यहां, data को store करने का अर्थ data behaviour से है, अर्थात् यदि हम char data -type में कोई numeric value store करते हैं, तो यह आसानी से उस value को store कर लेगा , लेकिन हम इस value को mathematical task के use नहीं कर सकते हैं। इसका मतलब है कि यह एक char की तरह व्यवहार करेगा।

इसके विपरीत , int और float data -type संवेदनशील हैं, ये केवल numeric values ही स्टोर करेंगे यदि हम इनमे characters values input करते हैं, तो program error देगा या program एक different flow में execute हो जायेगा।

एक बड़े program में, ऐसी स्थिति उत्पन्न हो सकती है कि हमें different data को different data -type में store करना पड़ सकता है, इसलिए C ++ में pre-defined function दिए गए हैं।

<scope resolution operator C++
>typedef in C++ in hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *